Web Designing and Development क्या है और Web Designing in Hindi

Web Designing and Development क्या है और  Web Designing in Hindi के बारे में सीखने की इच्छा हर किसी Internet User को होता है पर उनको सही जानकारी नहीं होती है कि Web Designer बनने के लिए कौन-सा Course करना पड़ताा है। यदि आप जानना चाहते हैं कि Web Designer बनने के लिए कौन-कौन सा Course करना पड़ता है तो आपको इस पोस्ट पर पूरी जानकारी मिल जाएगी।

what-is-website-designing-Web-Designing-Kya-Hai

Web Designing Kya Hai?

जब हम कोई भी Website बनाते हैं और उस Website में जो भी Look और Design देते हैं उसे Web Designing कहते हैं।

Web Designing Basics

Web Designing 2 Type के होते हैं।

1. Front End Web Designing

2. Back End Web Development

 

1. Front End Web Designing

जब हम कोई Website पर Visit करते हैं उस Website पर हमें जो भी दिखता है और Degin रहता है। उसे Front End Web Designing कहते हैं।

2. Back End Web Development

यह एक coding की तरह होता है इसमें Developer अपने website पर जो भी code add करते हैं वह code कोई भी visitor को नहीं दिखता है। वह जिस तरह के code add करता है उस तरह का Design Website पर Show होता है।

Web Designing Requirements?

Web Designer बनने के लिए Front End Web Designing और Back End Web Development जानकारी होना चाहिए।

Front End Web Designing के लिए क्या-क्या सीखना चाहिए?

  1. Photoshop
  2. HTML
  3. CSS
  4. Javascript

Web Designing using Photoshop Basics

सबसे पहले तो आपको एक Design तैयार करना होगा कि आपका Website किस तरह से दिखेगा और उसमें क्या-क्या होना जरूरी है। Web Developer अपने Website पर कोई भी काम करने से पहले Photoshop पर Website का Look तैयार कर लेते हैं।

Web Designing using html

HTML का मतलब Hype Text Markup Language है। HTML Markup Language है जिसका उपयोग Website का ढांचा बनानेे में होताा है।HTML ऐसा Language हैै जिसे Code के रूप में लिखा जाता है।

HTML Language सीखना आसान है इसके उपयोग से आप एक Simple Static Website बना सकते हैं।

Web Designing Using CSS

CSS का मतलब है Cascading Style Sheet. HTML हमारी Website को Structure यानी ढांचा देने के काम आता है और दूसरी और CSS हमारे HTML से बने हुए Structure को Design देने के काम आता है ये हमारे Design को Style देने के काम में आता है।

Web Designng Using JAVASCRIPT

यहाँ पर हम पूरी तरह से Programming करना शुरू कर देंते है. HTML\CSS हमारी Website को बना देती है। लेकिंन Design को Interactive बनाने के लिए Javascript का प्रयोग होता है. Interactive से मेरा मतलब है जैसे आप फेसबुक पर उपर friend request वाले icon पर पर क्लिक करते हो तो निचे एक Drop-Down खुल जाता है। Javascript ये Detect करता है की User ने आपकी Website पर क्या Action किया है और उस Action के हिसाब से वह Design को बदल देता है. जब किसी Website के उपर Image घूम रही है तो यह javascript की मदद से घूमता है।

HTML  और CSS मिलकर एक बहुत ही अच्छी Static Website बना सकती है यदि आपने सिर्फ Photoshop HTML और CSS सिख लिया है तो आप किसी भी IT कम्पनी में नौकरी कर सकतें है और आप एक अच्छी Website बना सकतें है।

Back End Design के लिए क्या-क्या सीखना चाहिए?

HTMl\CSS\JAVASCRIPT से आप Static Website बना सकतें है। Static Website में हम Database Entire, Login, Register जैसे Feature नही बना सकतें है।

Web Designing using PHP

वैसे तो आप Back End पर बहुत से Languages चल सकती है‌। लेंकिन शुरू में PHP सीखना बहुत ही आसान है और यह Powerful Language है और इससे Feature Perform हो सकता है. Facebook PHP पर ही बनाई गई थी।

PHP सीखना इस लिए भी फायदेमंद है क्योंकि हम कम पैसो से ही Website बना सकतें है। इससे हम WordPress पर Website Design करना भी सीख सकतें है। दुनिया की सबसे ज्यादा Website और Blog WordPress पर बने है। PHP सीखने से आपके लिए WordPress पर Theme बनाना आसान हो जाएगा।

Web Designing using DATABASE

जब हम Facebook पर अपनी Id बनातें है या यूट्यूब पर Video देखतें है तो ये जो सारा Data जहाँ पर स्टोर होता है उसे हम Database कहतें है. MYSQL सीखने के बाद अपने Website पर लोंगो का Data भी स्टोर कर सकतें है।

Web Designing using MYSQL

MYSQL जैसे Database में कुछ भी Save करवाने के लिए PHP जैसी Languages का प्रयोग हो रहा है।

Web Designing Course Fee’s

वैसे तो आप Internet और YouTube से भी Web Designing Course सीख सकते हैं।

यदि आप किसी Institute से यह सारे Course करना चाहेंगे तो आपको 6 Months के 10,000 rs तक खर्च करने पड़ सकते हैं। हर Institute के अलग-अलग कीमत होते हैं।

Web Designing Career

Web Designing का Couse करने के बाद में अगर आप अच्छी तरह से एक Website को बना सकते हैं तो आपके लिए बहुत सारे नौकरियों के विकल्प होंगे। अगर आप नौकरी भी नहीं करना चाहते तो आप घर बैठकर भी यह काम कर सकते हैं ऑनलाइन ऐसी बहुत सारी website है जहां पर आप website की मदद से काफी अच्छा Money Earn कर सकते हैं। यह कुछ ऐसे क्षेत्र जहां पर एक Web Designer Website Design कर सकता है ।

1. Web Site Designing Companies
2. Web Consultancies
3. Software Development Companies
4. Website Optimization Companies
5. Web Marketing Firms
6. Educational Institutes
7. Web Domain & Hosting Service
8. ProvidersWebsite
9. Development Firms
10. Professional Websites
11. Web Advertising Agencies

Web Designing jobs for freshers

Web Designing करने के बाद में आपको सिर्फ एक स्तर पर नौकरी नहीं मिलती इसके लिए भी कई Company में कई अलग-अलग स्तर होते हैं जैसे-जैसे आप को काम का अनुभव होता है वैसे-वैसे आपके स्तरो  में उन्नति होती रहेगी तो नीचे आपको Web Designing के कुछ पदों के नाम दिए गए हैं जहां पर एक वेब डिजाइनर काम कर सकता है।

1. Webmaster
2. Freelance Designer
3. Digital Imaging Specialist
4. E-commerce Site Developer
5. Web Promotion Executive
6. Design Consultant
7. Web Media Designer
8. Flash Media Designer
9. Website Programmer
10. Web Design Instructor
11. Multimedia Designer

Web Designing Salary in india

Web Designer की Sallary 10,000 से शुरू होकर 1,00,000 से ज्यादा मिल सकती है।

Conclusion

आपको इस पोस्ट में web designing and development से संबंधित सभी जानकारी दी गई है और आशा करता हु की आपको यह पोस्ट पसन्द आई होगी।

यदि आपको यह पोस्ट पसंद आए तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें ताकि इस तरह के पोस्ट आप और पढ़ सके।

2 Comments on “Web Designing and Development क्या है और Web Designing in Hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *